Breaking News
Home » Recent » लखनऊ :- कम उम्र में युवा भी हो रहे हार्ट अटैक का शिकार

लखनऊ :- कम उम्र में युवा भी हो रहे हार्ट अटैक का शिकार

राजेश कुमार यादव लखनऊ :- केजीएमयू के हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. अक्षय प्रधान ने बताया कि पहले 60 वर्ष की उम्र में लोगों को दिल का दौरा पड़ता था, लेकिन अब 20 से 40 वर्ष के युवा भी हृदयाघात के शिकार हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि 75 फीसद मरीज हृदयाघात, फिर हार्ट फेल्योर के 10 फीसद व दिल की गति कम होने के 12 से 15 फीसद मरीज आते हैं। वाल्व खराब होने के भी तीन से सात फीसद मरीज आते हैं। अब प्रदूषण भी हृदयाघात का कारण बन रहा है। उन्होंने यह जानकारी शनिवार को गोमती नगर स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में ‘हृदय रोगों के प्रबंधन व रोग के प्रति लोगों में जागरूकता लाने’ विषय पर शुरू हुई दो दिवसीय कार्यशाला में दी। स्टेमी इंडिया की ओर से यह कार्यशाला उत्तर भारत में पहली बार आयोजित की जा रही है, जिसका मकसद फिजीशियन, नर्सिग, टेक्नीशियन व नर्सो को हृदयाघात प्रबंधन का अत्याधुनिक प्रशिक्षण देना है।
हृदयाघात के मुख्य कारण
गलत खान-पान, अनियमित जीवनशैली, व्यायाम न करना, फास्ट फूड-जंक फूड व शराब, तंबाकू उत्पादों का सेवन, ज्यादा तला-भुना खाना, तनाव होना, नमक अधिक खाना, शुगर, बीपी या मोटापा होना, हाई कैलोरी लेना, उक्त वजहों से कोलेस्ट्रॉल बढ़ना, हीमोग्लोबिन की कमी या एनीमिया होना।
लक्षण :- सांस फूलना, सीने के बीच में या बांयी ओर 15 मिनट से अधिक देर तक दर्द उठना, ज्यादा पसीना आना
बचाव :- वजन कम करना, सुबह टहलना व व्यायाम करना, अंकुरित चना व हरी ताजी सब्जियां एवं फलों का सेवन, नमक और वसा कम लेना, तनाव से बचना।
चिकित्सीय प्रबंधन जरूरी :- कार्यशाला में आए सूबे के तकनीकी एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन ने कहा कि दिल का दौरा पड़ने में पहले की अपेक्षा तीन गुना बढ़ोतरी हुई है। यूपी में तमिलनाडु की तर्ज पर स्टेमी इंडिया नेटवर्क का मॉडल केजीएमयू को लागू करना चाहिए। ताकि समय रहते मरीजों की जान बचाई जा सके। केजीएमयू के पूर्व हृदय रोग विभागध्यक्ष पद्मश्री प्रो. डॉ. मंसूर हसन ने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों को मानवीय मूल्यों को ध्यान में रख चिकित्सा प्रबंधन करना चाहिए। वहीं केजीएमयू के वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. ऋषि सेठी ने कहा कि स्टेमी दिल के दौरे में अचानक हृदय की प्रमुख धमनी में 100 फीसद अवरोध हो जाता है। ऐसी स्थिति में जल्द ब्लॉकेज खोलने की चुनौती होती है। संस्था के संस्थापक डॉ. थॉमस एलेक्जेंडर ने कहा कि तमिलनाडु में हमारे मॉडल ने शानदार परिणाम दिया है। इससे दिल के दौरे से होने वाली मौतों में गिरावट आई है।

Comments

comments

x

Check Also

बिक्रम एवं बिहटा की जनता में रामकृपाल की जीत पर काफी उत्साह दिखा,जश्न का माहौल।

संवाददाता निशाँत कुमार। बिक्रम। 2019 के महाभारत में भाजपा एवं सहयोगी दलों की जीत पर बिक्रम शहीद चौक पर कार्यकर्त्ताओं ...

Show Buttons
Hide Buttons