Breaking News
Home » Recent » फिर राजधानी में हुई निजी चैनल एवं अख़बार के पत्रकार के साथ मारपीट।

फिर राजधानी में हुई निजी चैनल एवं अख़बार के पत्रकार के साथ मारपीट।

संवाददाता अमित कुमार की रिपोर्ट।

#बिहार में पत्रकारों को आये दिन अपने खून से खबर लिखनी पड़ रही है।

पटना-बीते बुधवार देर रात को पाटलिपुत्र इंडस्ट्रियल एरिया अंतर्गत प्लास्टिक फैक्ट्री में भीषण आग लगी थी।शिवमंगल मील इंडस्ट्रीज में लगी आग ने देखते-देखते विकराल रूप धारण कर लिया और कई मशीनें धू-धूकर जल गई।इस घटना में लाखों की संपत्ति के नुकसान होने की बात कही जा रही है।जानकारी के मुताबिक लोगों ने आग बुझाने की कोशिश की लेकिन फैक्ट्री में फायर सिस्टम नहीं होने की वजह से कुछ नहीं किया जा सका। फायर बिग्रेड की दो गाड़ियां जब मौके पर पहुंची तब घंटों मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका।बहरहाल, इस घटना ने पाटलिपुत्र इंडस्ट्रीयल एरिया की सुरक्षा पर बड़ा प्रश्न चिन्ह खड़ा कर दिया है।सवाल यह है कि बगैर फायर सिस्टम या पर्याप्त इंतजाम के एनओसी क्यों दे दिया गया? फिलहाल पुलिस जांच के बाद कार्रवाई की बात कह रही है।वही इसी दौरान खबर संकलन करने गए इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट मीडिया नवबिहार टाइम्स के पत्रकार विवेक रॉय के साथ फैक्टरी मालिक ललन सिंह खबर नहीं बनाने को लेकर मार-पीट और गंदी-गंदी गालियां देते हुए उनका माइक,मोबाइल और आईडी कार्ड सब तोड़ दिया और कहा बिना इजाजत मेरे कैंपस में आए हो सबको यही दफना दूगाँ।पत्रकार द्वारा सूचना के बाद थाना ने त्वरित करवाई करते हुए घटना स्थल पर पहुँच कर पत्रकार को वहाँ से निकला गया।बिहार में पत्रकारों को अब अपने खून से खबर लिखनी पड़ रही है।सुशासन बाबू के राज में आये दिन पत्रकार को हीं टारगेट पर लिया जाता है।कहते है कि समाज का चौथा स्तंभ मीडिया है,मगर आज के दौर में चौथा स्तंभ खतरे में देखा जा रहा है इस तरह की कई घटना पत्रकारों के साथ घट रही है।यहां शासन-प्रशासन पत्रकारों के उपर मार-पीट या हत्या को नजरअंदाज करने पर तुले रहते हैं जो देश हित में बिलकुल नहीं है।

*पत्रकार विवेक राय की फाइल फोटो

Comments

comments

x

Check Also

समस्तीपुर :- कोर्ट कैम्पस में रोज घंटो पानी की होती है बर्बादी

समस्तीपुर से लक्ष्मी प्रसाद /अमरदीप नारायण प्रसाद :- बिहार में हर तरफ पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है और ...

Show Buttons
Hide Buttons