Breaking News
Home » Recent » आरा :- शिक्षक अपने लंबित वेतन के भुगतान हेतु कर रहे कई सालों से इंतजार

आरा :- शिक्षक अपने लंबित वेतन के भुगतान हेतु कर रहे कई सालों से इंतजार

आरा से विकास सिंह की रिपोर्ट :- भोजपुर जिले के पेहराप पंचायत स्थित विद्यालयों में कार्यरत पंचायत शिक्षकों की भुगतान राशि अभी तक शिक्षकों को नहीं मिल सकी है जिसे लेकर शिक्षकों ने प्रखंड विकास पदाधिकारी सहार एवं शिक्षा पदाधिकारी सहार के समक्ष लिखित रूप से आवेदन दे दिया है । शिक्षकों के अनुसार आवेदन 2016 में ही दिया गया था आज 2019 आ चुका है लेकिन अभी तक पदाधिकारियों की तरफ से कोई ठोस पहल नहीं हुई है जिससे इन शिक्षकों का भुगतान हो सके । दरअसल मामला जून 2012 से मार्च 2013 एवं जून 2012 से दिसंबर 2012 तक का लंबित नियत वेतन के भुगतान का है । इस दौरान 2016 में एक पत्र जिला शिक्षा पदाधिकारी के तरफ से आया जिसमें भुगतान जांच का आदेश जारी किया गया था और उन्हीं शिक्षकों का भुगतान किया जाये जो शिक्षक वर्तमान में कार्यरत हो , फिर एक पत्र जिला शिक्षा पदाधिकारी के तरफ से आया जो 2018 का साल था जिसमें कार्यरत शिक्षकों से बैंक पासबुक की छायाप्रति की मांग की गई थी ताकि उनको राशि उनके बैंकों में जाए । 2016 से 2018 , 2019 हो गए लेकिन अभी तक कोई ठोस उपाय नहीं निकल पाया है जिससे शिक्षकों की भुगतान की राशि उन्हें मिल सके उनकी समस्या का समाधान हो जाये । वहीं शिक्षक अपनी तरफ से तो पूरी मेहनत कर रहे है कि उनको उनकी राशि मिल जाए लेकिन पता नहीं पदाधिकारियों तक ये बात , उनकी परेशानी कब दिखेगी । वहीं 2017 में पेहराप के ग्राम पंचायत सचिव के पास भी पत्र भेज दिया गया था लेकिन अभी तक कुछ नहीं हो पाया है । शिक्षकों ने बताया कि वो विद्यालयों में नियमित रूप से पठन पाठन का कार्य सम्पादित करते आ रहे है । योगदान की तिथि से मई 2012 तक तथा अप्रैल 2013 से लेकर आज तक नियमित भुगतान हो चूका है लेकिन जून 2012 से मार्च 2013 एवं जून 2012 से दिसम्बर 2012 तक अनुपस्थिति विवरणी भी कार्यालय को समर्पित कर चुके है उसके बावजूद उक्त अवधि का भुगतान आज तक नहीं हुआ है ।

Comments

comments

x

Check Also

समस्तीपुर :- मारपीट का आवेदन देकर किया कार्रवाई की मांग।

समस्तीपुर से रामकुमार की रिपोर्ट :- विभूतिपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत बोरिया डीह वार्ड 12 निवासी भोला महतो के 18 वर्षीय ...

Show Buttons
Hide Buttons