Breaking News
Home » Recent » वैशाली :- सरकार द्वारा जारी पत्र की प्रति जलाकर किया विरोध।

वैशाली :- सरकार द्वारा जारी पत्र की प्रति जलाकर किया विरोध।

वैशाली से मोहम्मद शाहनवाज अता :- राज सरकार के द्वारा 50 वर्ष के बाद सरकारी कर्मचारियों पर कार्य क्षमता या आचार-विचार की समीक्षा के आधार पर सेवानिवृत्त करने के फैसले को बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ के जिला सचिव पंकज कुशवाहा ने काला कानून बताते हुए सरकार से सामान्य प्रशासन विभाग के द्वारा जारी पत्र की प्रति को जलाकर जोरदार विरोध दर्ज किया है।उन्होंने कहा कि सरकार शिक्षकों से दुश्मनों जैसा व्यवहार कर रही है।कोरोना महामारी के दौरान काम करने वाले कर्मचारियों को सरकार ने 50 लाख का बीमा निर्धारित किया था लेकिन कोरोना महामारी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले शिक्षकों को इस योजना से वंचित रखा गया। इतना ही नहीं वर्तमान में राज्य सरकार के द्वारा कोरोना महामारी के बचाव में मृत्यु को प्राप्त हुए कर्मी के परिवार को अनुकंपा और विशेष पेंशन देने का पत्र जारी हुआ जिसमें शिक्षकों को नजरअंदाज कर दिया गया।सरकार 4 लाख शिक्षकों से अपना सारा कार्य संपन्न करा रही है।नियोजित शिक्षकों को न तो समान काम का समान वेतन दे रही है और ना ही नियमित शिक्षकों की तरह नियोजित शिक्षकों का हूबहू सेवा शर्त लागू कर रही है।केवल भ्रामक आश्वासन देकर शिक्षकों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है।वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिलाध्यक्ष उत्पल कांत, उपाध्यक्ष राणा अभय कुमार, ललित दास, कोषाध्यक्ष रविंद्र कुमार, प्रखंड अध्यक्ष अशर्फी दास, वकील राय, मोहम्मद अकबर अली, योगेंद्र राय, नीतीश कुमार, अमित कुमार सहित सभी शिक्षक नेताओं ने पत्र को अविलंब निरस्त करने, बकरीद के पूर्व वेतन भुगतान करने के साथ-साथ अविलंब सेवा शर्त लागू करने की मांग किया।वहीं शिक्षकों ने पत्र की प्रति राज नंदन परिसर हाजीपुर के प्रांगण में जलाकर विरोध किया जिस मौके पर अंजु सिंहा, लाल बिहारी शर्मा, अश्वनी कुमार ज्योति कुमारी, श्वेता रंजन आदि उपस्थित रहे।

Comments

comments

x

Check Also

कल से खुल सकेगें योग संस्थान व जिम कोविड 19 के प्रावधानों का करना होगा पालन

कल से खुल सकेगें योग संस्थान व जिम कोविड-19 के प्राविधानो का करना होगा पालन देवरिया से देवेंद्र त्रिपाठी देवरिया ...

Show Buttons
Hide Buttons